मिलों में रजिस्टर का रख रखाव दुरुस्त करायें, धान खरीद के बकाये का विवरण दें: मण्डलायुक्त

Azamgarh Azamgarh Admistration

आज़मगढ़- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने कहा है कि मण्डल के जनपदों में धान खरीद का जो बकाया है उसके भुगतान में तत्परता लाई जाय तथा सुनिश्चित किया जाय कि अनावश्यक रूप से किसी भी किसान का बकाया अवशेष न रहने पाये। मण्डलायुक्त श्री पन्त शुक्रवार को अपने कार्यालय के सभागार में मण्डल के जनपदों में हुई धान खरीद की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि समय-समय पर अनुबन्धित मिलों के किये गये निरीक्षण में वहाॅं का रख रखाव दुरुस्त नहीं पाया गया है। मिलों में आवक तथा सीएमआर का रजिस्टर सुदृढ़ नहीं पाया गया है। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को तत्काल इस ओर ध्यान देकर रजिस्टर आदि सुदृढ़ कराने का निर्देश दिया। मण्डलायुक्त ने धान खरीद के भुगतान एवं बकाये की समीक्षा में पाया कि खाद्य विभाग का आज़मगढ़ में 172.83 लाख, मऊ में 31.65 लाख एवं बलिया में 268.97 लाख बकाया है। इसी प्रकार पीसीएफ का आज़मगढ़ में 338.85 लाख, मऊ में 508.68 लाख एवं बलिया में 724.82 लाख बकाया है। इस प्रकार मण्डल के जनपदों में धान खरीद हेतु नामित अन्य क्रय एजेन्सियों का बकाया भी बकाया है। भुगतान लम्बित रहने के सम्बन्ध में क्रय एजेन्सियों द्वारा टेक्निकल खराबी बताया गया। यह भी बताया गया कि धनराशि के अभाव में भी भुगतान लम्बित रह गया है, परन्तु अब धनराशि उपलब्ध हो गयी है। इस पर मण्डलायुक्त ने निर्देशित किया कि तत्काल भुगतान किया जाये। इसी क्रम में उन्होंने तीनों जनपदों के अपर जिलाधिकारियों को भी निर्देश दिया कि टेक्निकल खराबी से, 72 घण्टे से अधिक समय के लम्बित भुगतान और भुगतान लम्बित रहने के कारण आदि का पूर्ण विवरण तीन दिन में उपलब्ध करायें। इसी प्रकार उन्होंने 20 फरवरी तक ब्लाक गोदामों को भरने, गोदामों की क्षमता, गत माह की स्थिति का विवरण भी उपलब्ध कराने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने कहा कि राईस मिलों द्वारा जो सीएमआर दिया जाना था उसके सापेक्ष दिये गये सीएमआर की स्थिति, रजिस्टर मेनटेन करने की स्थिति की भी रिपोर्ट तीन दिन के अन्दर प्रस्तुत की जाय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *