वोटरों के नाम जोड़ने व काटने को लेकर तमाम आरोप लगाए जा रहे – रिपोर्ट: अमन गुप्ता

Azamgarh Azamgarh Admistration

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में राजनीति चरम पर है। वहीं वोटरों के नाम जोड़ने व काटने को लेकर तमाम आरोप लगाए जा रहे हैं। खास बात है कि इसमें सरकारी कर्मचारियों की भी मिलीभगत लगातार सामने आ रही है।

आजमगढ़ का बलिया कल्याणपुर गांव जोकि विकासखंड बिलरियागंज में स्थित है। वहां के ग्रामीणों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि गांव में वोटर लिस्ट में काफी हेराफेरी की गई है। इसमें लेखपाल बीएलओ और निवर्तमान प्रधान पति की मुख्य भूमिका है। बताया कि 250 नामों को वैध तरीके से काटने के लिए दिया गया था। लेकिन मात्र 125 लोगों का ही काटा गया। जबकि जो लोग गांव के निवासी हैं उनका भी नाम काट दिया गया। 400 नामों के सुधार का आवेदन किया गया था लेकिन 46 का ही किया गया। आसपास के गांवों के करीब 50 लोगों का नाम इस ग्राम सभा में जोड़ दिया गया है। इसके अलावा मृतक, विवाहिता, नाबालिग, करीब 170 लोगों का नाम अभी भी जुड़ा है। निवर्तमान प्रधान सावित्री यादव के पति भीम यादव को जिताने के लिए यह सारे काम लेखपाल बीएलओ व लेखपाल की तरफ से किए गए। ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रूप से मिर्जा सिराज पर ओम प्रकाश वर्मा विनोद कुमार नदीम खान आदि रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *