आजमगढ़ का लाल बना वन संरक्षक अधिकारी – रिपोर्ट: अमन गुप्ता

Azamgarh Azamgarh Admistration

आज़मगढ़ ज़िले के लाल का वन संरक्षक अधिकारी के पद पर चयन होने पर परिवार में खुशियां आने के साथ ही गांव के लोगों में भी खुशी की लहर दौड़ पड़ी और उनके घर पर लोगों के बधाई देने का तांता लग गया। लोग फूल माल और मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किए। लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित वन संरक्षक अधिकारी की परीक्षा उत्तीर्ण कर अपने गृह जनपद आज़मगढ़ पहुँच ओम प्रकाश राम का परिवार वालों के साथ ही ग्रामीणों ने किया स्वागत । घर पर स्वागत करने वालों का हुजूम उमड़ पड़ा लोग अधिकारी बनने पर उनको बधाई देने पहुँच गये। 
मुबारकपुर क्षेत्र के मोहब्बतपुर गांव में जन्मे ओमप्रकाश राम कानपुर के डीएवी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर तैनात है। सन 2018 में लोक सेवा आयोग की परीक्षा में उन्होंने प्रतिभाग किया था। विगत 25 जनवरी को रिजल्ट घोषित होने पर परीक्षा में पास कर 12वीं रैंक प्राप्त कर पूरे गांव व पूरे क्षेत्र का नाम रोशन किया है। इनके पिता गरीब किसान हैं। अपने बच्चों को पढ़ा लिखा कर उनकी सफलता के लिए जीवन मे जो संघर्ष किये उसका नतिजा उनके सामने दिख रहा हैं कि लोक सेवा आयोग की परीक्षा में 12वीं रैक पाने का जो कृतिमान कायम किया है वह लोगों के लिए प्रेरणा का श्रोत बना है इससे सिख लेकर और लोगों को भी आगे बढ़ने का संकल्प दोहराना चाहिए। वन संरक्षण अधिकारी के पद पर चयन होने के बाद ओमप्रकाश राम ने कहा कि इसका श्रेय वह अपने माता पिता वह बड़े भाई को देते हैं क्योंकि पिता के साथ बड़े भाई भी मजदूरी कर मुझे पढ़ाएं और आज इस मुकाम पर पहुंचाएं हैं उन्होंने युवाओं को संदेश दिया कि वह पढ़ाई करें और अपने परिवार का अपने जिले का नाम रोशन करें वही उनके भाई ने कहा कि ओम प्रकाश को पढ़ाने के लिए परिवार ने काफी मेहनत की है और आज ओमप्रकाश इस मुकाम पर पहुंचे हैं जिससे वह लोग काफी खुश हैं उनका कहना है कि वह चाहते हैं कि वह जिस तरह हम लोग परिवार को साथ लेकर चले हैं वह भी परिवार को साथ लेकर चलें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *