आजमगढ़ में लाख कोशिशों के बाद भी बकाया बिजली बिलों की वसूली बड़ी चुनौती बनी– रिपोर्ट: अमन गुप्ता

Azamgarh Azamgarh Admistration

आजमगढ़ में लाख कोशिशों के बाद भी बकाया बिजली बिलों की वसूली बड़ी चुनौती बनी हुई है। कोविड-19 में लॉकडाउन के चलते बकाया बिलों को जो लोग जमा नहीं कर पाए थे उनको सहूलियत देने के लिए पिछले कुछ महीनों से विभाग की तरफ से कोविड-19 समाधान योजना चल रही थी। इसमें रजिस्ट्रेशन करा कर कमर्शियल उपभोक्ता 30 प्रतिशत भुगतान करके बाद में 28 फरवरी तक पूरा बिल जमा कर सकते थे। योजना का समापन 30 व 31 जनवरी को होना था। आज रविवार को अवकाश के चलते शनिवार को एक प्रकार से दुकानदारों के लिए अंतिम मौका था। चेकिंग अभियान पर निकले एसडीओ टाउन का कहना था कि बकाया लक्ष्य का 50% भी नहीं जमा हो सका था। जिसको लेकर अधिकारियों ने जगह-जगह कमर्शियल कनेक्शनों की जांच को लेकर चेकिंग अभियान चलाया वही कई लोगों को बिना कनेक्शन के भी पकड़ा जो बिजली उपयोग कर रहे थे जिनके खिलाफ पेनाल्टी की कार्रवाई की गई।

आपको बता दें कि बकाया ज्यादा होने पर बिजली विभाग के निजी करण को लेकर काफी हो हंगामा मचा था जिसके बाद अभियान चलाकर कई बार लक्ष्य को प्राप्त करने की कोशिश की गई लेकिन इसके बाद भी अभी हालत सुधरने का नाम नहीं ले रही है। अब यह भविष्य बताएगा कि बिजली विभाग को लेकर शासन का रुख क्या रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *