नोडल अधिकारी की अध्यक्षता में गन्ना, पशुपालन, कृषि, सिंचाई, लघु सिंचाई, धान क्रय केन्द्र, विद्युत विभागों की समीक्षा बैठक

Azamgarh Azamgarh Admistration

आजमगढ़ : प्रमुख सचिव, ग्राम्य विकास विभाग एवं आयुक्त ग्राम्य विकास उत्तर प्रदेश/नोडल अधिकारी आजमगढ़ के0 रविन्द्र नायक की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में गन्ना, पशुपालन, कृषि, सिंचाई, लघु सिंचाई, धान क्रय केन्द्र, विद्युत आदि विभागों की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। इस अवसर पर धान क्रय केन्द्रों की समीक्षा में यूनियन बैंक के आईएफएससी कोड की मैपिंग न होने के कारण 108 किसानों के धान क्रय का भुगतान नही हो पा रहा है। जिस पर नोडल अधिकारी ने एलडीएम यूबीआई एवं डिप्टी आरएमओ को निर्देश दिये कि जिन बैंकां में आईएफएससी कोड के मैपिंग की समस्या है, उसे प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कर कृषकों का भुगतान तत्काल कराना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही उन्होने डिप्टी आरएमओ को निर्देश दिये कि जिन-जिन धान क्रय केन्द्रों पर धान के स्टाक पड़े हुए हैं, उनको जल्द से जल्द राईस मिलरों को डिलिवरी कराना सुनिश्चित करें। पशुपालन विभाग की समीक्षा में नोडल अधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि मनरेगा के अन्तर्गत जिन व्यक्तिगत लाभार्थियों को पशुओं के लिए शेड बनवाया गया है, उनको भी पशु उपलब्ध करायें एवं पशुओं पर जो गोशाला में रखने पर 900 रू0 प्रतिमाह मिलता है, इस धनराशि को पशु लेने वाले संबंधित व्यक्तियों को उपलब्ध करायें। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में कुल 37 गो-आश्रय स्थल संचालित हैं, जिसमें 2097 पशु संरक्षित किये गये हैं। इसी के साथ ही नोडल अधिकारी ने पशुओं के चारे के लिए चारागाहों में चारा बोने के लिए निर्देश दिये। इसी के साथ ही नोडल अधिकारी ने शारदा सहायक खण्ड-23 के एक्सीयन को निर्देश दिये कि जनपद के जिन-जिन नहरों में पानी जा रहा है, उसकी सूची उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें एवं जिन नहरों में पानी नही जा रहा है, उसकी भी सूची उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही कृषि विभाग की समीक्षा में नोडल अधिकारी ने जिला कृषि अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी ब्लाकों में कृषि रसायन की उपलब्धता सुनिश्चित करायें एवं बीज केन्द्रों पर खाद व बीज की उपलब्धता पूर्ण कराना सुनिश्चित करें। नोडल अधिकारी ने गन्ना क्रय केन्द्रों पर स्थापित इलेक्ट्रानिक कॉटों को चेक कराने के लिए बाट माप के अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होने कहा कि सभी काटों का शत प्रतिशत जॉच कराकर इसका प्रमाण पत्र दें। इसी के साथ ही नोडल अधिकारी द्वारा कोविड-19 के वैक्सीनेशन की तैयारियों की समीक्षा की गयी। इसी के साथ सीएमओ ने बताया कि कोविड-19 का वैक्सीनेशन 03 चरणों में किया जायेगा, जिसमें प्रथम चरण में हेल्थ केयर वर्कर, द्वितीय चरण में फ्रण्ट लाइन वर्कर एवं अन्य विभागों के अधिकारी/कर्मचारी एवं तृतीय चरण में 50 वर्ष से उपर के व्यक्ति एवं 50 वर्ष से नीचे के गम्भीर बिमारियों से ग्रसित व्यक्तियों को वैक्सीनेशन किया जायेगा। 25 साइटों पर कोविड वैक्सीनेशन किया जायेगा। इसके लिए नोडल अधिकारी ने पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिये कि सभी साइटों पर पुलिस की पर्याप्त व्यवस्था रहे। वैक्सीनेशन को सुरक्षित रखने के लिए कोल्ड चेन प्वाइण्ट बनायें गये हैं एवं प्रत्येक कोल्ड चेन प्वाइण्ट पर सीसी टीवी कैमरा लगाया गया है।इस अवसर पर जिलाधिकारी राजेश कुमार, पुलिस अधीक्षक सुधीर सिंह, मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला, अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, एसपी ट्रैफिक, सीओ सीटी, सीएमओ डॉ0 एके मिश्रा सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *